अब मूक-बधिर बच्चे भी कर सकेंगे संवाद


पिंकसिटी के दो इंजीनियरिंग छात्रों अभिनव वशिष्ठ और अभिषेक गुप्ता ने मिलकर किया इस तकनीक को इजाद

जयपुर। पिंकसिटी के दो इंजीनियरिंग छात्रों ने एक ऐसा उपकरण इजाद किया है जिसकी मदद से मूक-बधिरों को सामान्य लोगों से संवाद करने में सुविधा होगी। सामान्य लोगों की तुलना में मूक-बधिरों को अपनी बात समझाने में काफी समस्या का सामना करना पड़ता है, इसका हल लेकर दो छात्रों अभिनव वशिष्ठ और अभिषेक गुप्ता ने मिलकर इस तकनीक को इजाद किया है। अभिनव और अभिषेक ने बताया कि यह उपकरण दस्ताने, स्मार्ट वॉच और वायरलेस ब्लूटूथ स्पीकर के मेल से बना है। दस्तानों में छोटे-छोटे सेंसर लगे हैं जिनको स्पर्श करने पर कलाई पर बाँधी गई स्मार्ट वॉच में शब्द व अक्षर प्रदर्शित हो जाते हैं और स्पीकर के ज़रिये सामने वाला व्यक्ति सुन भी सकता है। साथ ही जब जब सामने वाला व्यक्ति अपनी बात कहता है तो बधिर व्यक्ति उन शब्दों को स्मार्ट वॉच ज़रिये पहचान सकता है जिसकी मदद से मूक-बधिरों को सामान्य लोगों से संवाद करने में सुविधा होगी।

विश्व बधिर दिवस पर किया लोकार्पण

इस उपकरण का लोकार्पण आज विश्व बधिर दिवस पर हजारों मूक-बधिर बच्चों की उपस्थिति में निर्मला ऑडिटोरियम, प्रताप नगर में किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व विशेषजन आयुक्त व पूर्व राज्यमंत्री धन्नाराम पुरोहित, आरएएस अधिकारी रणवीर सिंह परिहार, सेठ आनंदी लाल पोद्दार बधिर विद्यालय के प्रधानाचार्य भरत जोशी, समसा उपायुक्त हरफूल पंकज, भारतीय प्रेस आयोग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमाकान्त गोस्वामी, रावत एजुकेशनल सोसाइटी के चेयरमैन बी.एस. रावत, प्रोफ़ेसर एस. के. उपाध्याय मौजूद रहे।

Advertisements